Indian News : बिलासपुर । शासकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) की एंटी क्राइम टीम को एक और बड़ी सफलता मिली है। टीम ने विशाखापत्तम से अमृतसर जाने वाली हीराकुंड एक्सप्रेस (20807) में दबिश देकर दो गांजा तस्करों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपित एक बिहार और दूसरा दिल्ली का हैं। दोनों के कब्जे नौ किलो गांजा बरामद हुआ है। जब्त गांजा की कीमत 90 हजार रुपये हैं। शासकीय रेलवे पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर यह टीम बनी है। पहले ही दिन से टीम जोन से गुजरने वाली ट्रेनों में नियमित जांच कर रही है। जांच के साथ- साथ संदेह होने पर संबंधित से पूछताछ भी करती है।

टीम के सदस्य इस ट्रेन के प्रत्येक कोच की जांच करते हुए जैसे बी-3 कोच में पहुंचे। उन्हें बर्थ क्रमांक 63 व 70 में दो युवक नजर आए। पुलिस को देखकर दोनों युवक चेहरा इधर- उधर करने लगे।टीम के सदस्यों को दोनों पर संदेह हुआ। इस पर उनसे सामान्य पूछताछ की गई। जिसमें एक ने अपना नाम शादाब (34) निवासी त्रिलोकपुरी मयूर बिहार पूर्वी दिल्ली बताया। वहीं दूसरे का नाम प्रशांत कुमार पाल (28) निवासी रामपुर थाना कुदरा, जिला कैमूर बिहार बताया। उनसे पूछा गया कि वह कहा गए थे और अभी किस शहर में जा रहे हैं। इससे वह हड़बड़ाने लगे।

इस पर टीम ने उनसे बैग दिखाने के लिए कहा। चूंकि टीम ने दोनों तरफ से उन्हें घेरकर रखा था, इसलिए भागने की जरा भी गुंजाइश्ा नहीं थी। ऐसे में दोनों ने बैग खोलकर दिखाया। दोनों कब्जे से साढ़े चार किलो – साढ़े चार किलो का गांजा बरामद हुआ। गांजे को इस तरह पैकिंग की गई थी कि किसी को संदेह न हो और सभी उसे कुछ समान समझे। पर टीम ने पैकिंग को देखते ही समझ लिया कि इसके अंदर गांजा है। दोनों आरोपितों को जोनल स्टेशन में उतारा गया और जीआरपी थाने लेकर आए। आरोपितों के खिलाफ 20 बी नारकोटिक्स एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया गया है। इस कार्रवाई में जीआरपी थाने के उपनिरीक्षक बीके राठौर, लक्ष्मण गाइन, संतोष राठौर, मन्नू प्रजापति व राजा दुबे शामिल रहे।

@indiannewsmpcg

Indian News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page