Indian News :  रायपुर। छत्तीसगढ़ ( chhattisgarh) पॉलिटेक्निक ( polytechnic) कॉलेजों तथा आईटीआई में थ्री-डी प्रिन्टिग और रोबोटिक्स ( robotics ) जैसे नये ट्रेडों में प्रशिक्षण प्रारंभ करने तथा छत्तीसगढ़ के गौठानों में विकसित किए जा रहे रूरल इंडस्ट्रियल पार्क में कृषि उपजों और लघु वनोपजों के प्रसंस्करण और वैल्यू एडिशन के लिए अत्याधुनिक तकनीक का उपयोग प्रारंभ करने के संबंध में मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के साथ टाटा टेक्नोलॉजिस के अधिकारियों की बैठक में विचार-विमर्श किया गया।

मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ( CM bhupesh baghel) ने टाटा टेक्नोलॉजिस के अधिकारियों को बताया कि छत्तीसगढ़ ( chhattisgarh) की गांवों में स्थापित गौठानों को रूरल इंडस्ट्रियल पार्क के रूप में विकसित किया जा रहा है। इसके लिए 600 करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है। हर विकासखण्ड में दो गौठानों को रूरल इंडस्ट्रियल पार्क ( industrial park) के रूप में विकसित किया जा रहा है। इन पार्कों में कुटीर उद्योग स्थापित कर स्थानीय रॉ-मटेरियल के प्रसंस्करण और वैल्यू एडिशन कर उत्पाद तैयार किए जा रहे हैं। तैयार उत्पादों का सी-मार्ट ( C – mart) के माध्यम से विक्रय की व्यवस्था की गई है। इन उत्पादों को राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय मार्केट दिलाने का प्रयास भी किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ के 116 स्कूलों में हायर सेकेण्डरी के साथ आईटीआई के दो वर्षीय संयुक्त कोर्स प्रारंभ किए गए

मुख्यमंत्री ने टाटा टेक्नोलॉजिस के अधिकारियों को बताया कि छत्तीसगढ़ ( chhattisgarh) के 116 स्कूलों में हायर सेकेण्डरी के साथ आईटीआई के दो वर्षीय संयुक्त कोर्स प्रारंभ किए गए हैं। ग्यारहवीं कक्षा से यह दोनों कोर्स प्रारंभ होते हैं। बारहवीं पास करने वाले विद्यार्थियों को एक साथ बारहवीं बोर्ड और आईटीआई का सर्टिफिकेट ( certificate) दिया जाएगा। यहां आधुनिक उद्योगों के लिए उपयोगी ट्रेड प्रारंभ होने से विद्यार्थियों के रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page