Indian News : रायपुर । केंद्रीय वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने 2022 बैच के आईएफएस अफसरों का कैडर आबंटित किया है। वन अफसरों की कमी से जूझ रहे छत्तीसगढ़ को 6 अफसर मिले हैं।


इनमें 2 छत्तीसगढ़ मूल के हैं।


केंद्र सरकार द्वारा जारी सूची में जिन अफसरों को छत्तीसगढ़ कैडर आबंटित किया गया है, उनमें हर्षित मेहर, विपुल अग्रवाल, दीपेश कपिल, चंद्रकुमार अग्रवाल, एस. नवीन कुमार और एमजी वेंकटेश शामिल हैं। इनमें हर्षित मेहर और विपुल अग्रवाल छत्तीसगढ़ के रहने वाले हैं।

बता दें कि छत्तीसगढ़ में आईएफएस अफसरों के 153 पद स्वीकृत हैं। इनमें 117 अफसर पदस्थ हैं। यानी 36 पद खाली हैं। इनमें भी कई अफसर केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर हैं। कई अफसर तो छत्तीसगढ़ गठन के बाद से ही केंद्र सरकार के अधीन कार्यालयों में रहे हैं। इस वजह से यहां अफसरों की कमी बनी हुई है।

वन सेवा परीक्षा में देश में पांचवें स्थान पर थे हर्षित मेहर


हर्षित मेहर ने यूपीएससी की भारतीय वन सेवा परीक्षा में देश में पांचवां स्थान हासिल किया था। हर्षित मैकेनिकल इंजीनियरिंग के स्टूडेंट रहे हैं। उनके पिता डीके मेहर राज्य वन सेवा के अधिकारी हैं। विपुल अग्रवाल ने 100वीं रैंक हासिल की थी। चंद्रकुमार अग्रवाल मध्यप्रदेश के शिवपुरी के हैं। वे देश में 35 वें स्थान पर रहे। सहारनपुर के दीपेश कपिल का 47वें स्थान पर रहे। एस. नवीन 62 और एमजी वेंकटेश 82वें स्थान पर रहे। दोनों कर्नाटक के रहने वाले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page