Indian News

कोरबा। CG News जिले के कटघोरा वनमंडल में 25 हाथियों के दल ने बीती रात तीन मवेशियों को मारने के बाद ग्राम बलबहरा पटेल पारा में प्रवेश कर भारी उत्पात मचाया। इस दौरान हाथियों ने दो ग्रामीणों के मकान ढहा दिए एवं उनके खेतों व बाड़ी में पहुंचकर धान व मक्का के फसलों को तहस-नहस कर दिया।

इस दौरान वन विभाग का अमला गांव में पहुंचकर हाथियों को खदेडऩे तथा उत्पात को रोकने का प्रयास करता रहा। लेकिन इसमें विशेष सफलता नहीं मिल पाई। सुबह होने पर हाथियों ने जंगल का रूख किया। तब जाकर ग्रामीणों व वन अमले ने राहत की सांस ली। इससे पहले वे रतजगा करते रहे। रात में हाथियों द्वारा किये गए नुकसानी का सर्वे वन अमला द्वारा आज सुबह शुरू कर दिया गया है।

सर्वे के बाद ही वास्तविक नुकसानी का पता चलेगा, लेकिन अनुमान लगाया जा रहा है कि हाथियों के उत्पात से ग्रामीणों को हजारों रूपए का नुकसान हुआ है। कल भी हाथियों के इस दल ने अड़सरा के बरबट पारा में अजमेर सिंह व विनय कुमार नामक दो ग्रामीणों के बैल व गाय को निशाना बनाते हुए मौत के घाट उतार दिया था। उधर ऐतमा नगर रेंज में घूम रहे हाथियों का दल अभी भी मड़ई गांव के आसपास विचरण कर रहे है।

देर रात हाथियों ने दूसरी ओर मूवमेंट किया था, लेकिन बाद में फिर वापस लौट गए। कल शाम इस दल में शामिल एक नन्हा शावक मड़ई में नेशनल हाईवे के निकट एक गड्ढे में गिर कर फंस गया था, जब वन विभाग को इसका पता चला तो वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुंचकर गड्ढे में फंसे नन्हें हाथी का रेस्क्यु किया और उसे सुरक्षित निकालकर उसकी जान बचायी। इस दौरान एनएच पर घंटों जाम लगा रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page