Indian News : कोरबा जिले में स्थित वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) के सामुदायिक विकास परियोजना ‘आरोग्य’ और राष्ट्रीय पोषण मिशन (प्रधानमंत्री व्यापक पोषण योजना) के तहत ‘पोषण माह’ जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। पोषण माह का मकसद गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को स्वस्थ खानपान और संतुलित आहार के प्रति जागरूक करना है।

बालको के आरोग्य परियोजना के तहत सामुदायिक स्वास्थ्य पर व्यापक जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। अभियान में विभिन्न गतिविधियों जैसे परिचर्चा, पीडी चूल्हा सत्र, प्रश्नोत्तर सत्र, पोषण संबंधी वीडियो शो, पोषण के महत्व के बारे में प्रतिभागियों को बताया जा रहा है। लोगों को दैनिक जीवन में अपनाए जाने वाले उपायों को शामिल करने की भी जानकारी दी गई। हितग्राहियों को शासकीय योजनाओं के माध्यम से दिए जाने वाले टेक होम राशन (टीएचआर) को अलग-अलग तरीकों से तैयार करने का प्रशिक्षण भी दिया गया है।

प्रशिक्षण के दौरान मौजूद कृषि विशेषज्ञों ने प्रतिभागियों को पोषण बाड़ी का महत्व बताया, साथ ही उन्हें सब्जियों की उच्च गुणवत्ता के बीज वितरित किए गए। इस परियोजना के तहत ‘रेसिपी मेकिंग कॉम्पिटिशन’, ‘हेल्दी बेबी कॉम्पिटिशन’ जैसी प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जा रही हैं। बालको गर्भावस्था का जश्न मनाने और प्रेगनेंट महिलाओं में सकारात्मकता की भावना लाने के उद्देश्य से ‘गोद भराई’ समारोह भी आयोजित कर रहा है।

बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक अभिजीत पति ने कहा कि पोषण और स्वास्थ्य हमारे सामुदायिक विकास के महत्वपूर्ण पहलू हैं। इस परियोजना के माध्यम से स्थानीय उपज को बढ़ावा देना, स्वदेशी फसलों की खेती को प्रोत्साहित करना, संतुलित पोषण प्रथाओं पर समुदायों को संवेदनशील बनाना और नंद घर के माध्यम से पोषण भोजन प्रदान करना शामिल है। क्षेत्र की महिलाओं और किशोरियों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए बालको ने जिला प्रशासन के सहयोग से कई कार्यक्रम संचालित किए हैं।

बालको जरूरतमंद लोगों की हरसंभव मदद के लिए प्रतिबद्ध है। CEO अभिजीत पति ने विश्वास जताया कि स्थानीय लोगों में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता की दृष्टि से ‘आरोग्य परियोजना’ की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। नेहरू नगर की खुशबू चौधरी ने बताया कि कि उन्होंने शासकीय योजनाओं से मिले राशन से कई तरह के पौष्टिक व्यंजन बनाने के तरीके प्रशिक्षण कार्यशाला में सीखे। इससे उन्हें और उनके बच्चों को काफी लाभ मिल रहा है। खुशबू की तरह सत्र से 100 से अधिक लोग लाभान्वित हुए हैं। बालको की योजना इस महीने के दौरान समुदाय के 500 सदस्यों तक पहुंचने की है।

आरोग्य परियोजना मातृ एवं बाल स्वास्थ्य पर जागरूकता अभियानों और टीबी, एचआईवी, टीकाकरण के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं प्रदान करने वाली एक व्यापक स्वास्थ्य पहल है। वित्तीय वर्ष 2022 में यह परियोजना 30 गांवों में स्वास्थ्य सेवाओं के माध्यम से 28,900 से अधिक लोगों तक पहुंची।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page