Indian News : छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में आज दूसरे दिन रविवार को भी सर्वमंगला पुल से कुसमुंडा तक भारी जाम लगा हुआ है। वहीं दूसरी ओर गेवरा रोड तक गाड़ियां फंसी हुई हैं। करीब डेढ़ दिन से इस रास्ते पर जाम लगा हुआ है। सर्वमंगला चौक से इमलीछापर तक बन रहा कुसमुंडा फोरलेन रोड का निर्माण लोगों के लिए मुसीबत बन गया है। सड़क निर्माण के लिए सड़क को जगह-जगह पर खोद दिया गया है। जगह-जगह बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। साथ ही यहां कीचड़ ही कीचड़ हो गया है, जिसकी वजह से गाड़ियों का निकलना मुश्किल हो गया है।

जाम में गाड़ियों के फंसने से लोग परेशान हो रहे हैं। शनिवार को विश्वकर्मा जयंती की छुट्टी होने से ट्रक ऑपरेटर्स ने गाड़ियां चलाने से इनकार कर दिया था, जिसके कारण कीचड़ हटाने के लिए मशीनें और क्रेन जाम लगी हुई सड़क पर मदद के लिए नहीं आ पा रही थीं। बाद में जब वहां फंसी गाड़ियों के ड्राइवर्स जमा हो गए और माहौल गर्म होने लगा, तब जाकर दोपहर बाद PWD की टीम यहां आई थी।

उन्होंने दलदली मिट्टी को थोड़ा ठीक किया था, जिसके बाद कुछ गाड़ियां रेंगते हुए वहां से निकल पाई थीं, लेकिन कुछ ही घंटे के बाद यहां फिर से जाम लग गया, जो अभी तक नहीं खुल पाया है। छोटी गाड़ियां बगल में बने सर्विस रोड से निकाली जा रही हैं, लेकिन उसमें उनके स्लिप होने की आशंका बनी हुई है, क्योंकि यहां भी भारी कीचड़ जमा है। कीचड़ निकालने के लिए यहां लगातार मशीनों से काम करना जरूरी है।

सर्वमंगला से कुसमुंडा तक करीब 10 किलोमीटर तक गाड़ियां जाम में घंटों से फंसी हुई हैं। ऊपर से इसी सड़क से कोयला लेकर भारी वाहन भी गुजरते हैं। वैशाली नगर के पास सबसे अधिक कीचड़ सड़क पर जमा है। पिछले दिनों बीच-बीच में हुई बारिश के कारण मुसीबत बढ़ गई है।

पिछले 5 दिनों से यहां गाड़ियां फंस रही थीं, लेकिन अब तो हालत बहुत ही खराब है। पिछले कुछ दिनों से हर थोड़ी देर पर कीचड़ निकालकर गाड़ियों को वहां से निकाला जा रहा है, लेकिन स्थायी समाधान नहीं हो पा रहा और घंटों-घंटों तक यहां जाम लग रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page