Indian News : छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को एक महत्वपूर्ण एलान करते हुए कहा है कि, प्रदेश की सरकार ध्यान रखेगी कि स्कूल- कॉलेजों, सार्वजनिक जगहों पर महिलाओं, बच्चियों के साथ किसी भी तरह की कोई ज्यादती न हो। इसके लिए प्रदेश की सरकार हमर बेटी हमर मान अभियान शुरू करने जा रही है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जानकारी देते हुए बताया कि अब इस अभियान के लिए हमर बेटी हम मान हेल्पलाइन भी शुरू की जाएगी। एक मोबाइल नंबर भी जारी किया जाएगा, जिसमें महिलाएं बच्चियां अपने साथ होने वाली समस्याओं की शिकायत कर सकेंगी। इन शिकायतों का निराकरण करने के लिए एक अलग टीम होगी जो इसे प्राथमिकता देगी।

लेडी ऑफिसर पहुंचेंगी स्कूल-कॉलेज


हमर बेटी हमर मान अभियान के तहत राज्य के गर्ल्स स्कूल और कॉलेज में राज्य पुलिस की महिला अधिकारी और कर्मचारी जाएंगी। महिला पुलिस के अफसर बच्चियों से स्कूल कॉलेजों में मुलाकात करेंगी। उन्हें कानूनी अधिकार गुड टच, बैड टच, छेड़खानी, यौन शोषण, साइबर क्राइम, सोशल मीडिया क्राइम के बचाव और उनके अधिकारों पर जानकारियां देंगी।

IG की जिम्मेदारी तय


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की घोषणा के मुताबिक महिला संबंधी अपराधों की जांच महिला अधिकारियों से करवाई जाएगी। जल्द से जल्द मामलों के चालान अदालत में पेश हो सके, इसके निर्देश दिए गए हैं। इसकी पूरी तरह से मॉनिटरिंग रेंज के आईजी की जिम्मेदारी होगी। हमर बेटी हमर मान अभियान के लिए एक मोबाइल ऐप भी लॉन्च किया जाएगा, स्कूल कॉलेजों में इसके इस्तेमाल के बारे में जानकारी देने के लिए वर्कशॉप भी लिए जाएंगे।

होगी खास पेट्रोलिंग


हमर बेटी हमर मान अभियान के तहत यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि, किसी भी लड़की के साथ सार्वजनिक जगह पर कोई छेड़छाड़ की घटना न हो। मुख्यमंत्री के ऐलान के मुताबिक अब गर्ल्स स्कूल कॉलेज महिलाओं की उपस्थिति वाली सार्वजनिक जगहों पर महिला टीम की स्पेशल पेट्रोलिंग लगाई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page