Indian News : रायपुर | साले की पत्नी के साथ अवैध संबंध के राज खुलने के बाद ब्लैकमेलिंग से परेशान होकर वीआईपी ड्यूटी में पदस्थ आरक्षक ने खुद को गोली मार कर आत्महत्या कर ली थी. पुलिस ने आत्महत्या के लिए प्रेरित करने के आरोप में मृतक के साले की पत्नी और ससुर को ग्वालियर के मुरार से गिरफ्तार किया है.
आरोपी उमाशंकर ने अपनी पत्नी और पिता के साथ मिलकर 30 लाख रुपए आरक्षक से मांगे थे. जब आरक्षक ने 30 लाख रुपये नहीं दिए तो 19 अगस्त 2021 को आरक्षक के खिलाफ ग्वालियर के मुरार थाने में महिला और उसके पति ने अनाचार का मामला दर्ज कराया था.

दरअसल 19 अगस्त 2021 को वीआईपी सुरक्षा वाहिनी, रायपुर में पदस्थ आरक्षक क्रमांक 272 विश्वम्बर दयाल राठौर ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी. मृतक सिंचाई कालोनी शांतिनगर रायपुर के शासकीय मकान नंबर एच/91 में निवासरत था. सुसाइड की इस वारदात पर सिविल लाइन पुलिस मौके पर पहुंची. थाने में मर्ग कायम कर जांच शुरू की गई. घटना स्थल से पुलिस को एक सुसाइड नोट बरामद हुआ था. इसके आधार पर ही जांच शुरू की गई. मामले में महेश राठौर, शारदा राठौर, एवं रामशंकर राठौर द्वारा मृतक को प्रताड़ित करते हुए आत्महत्या करने के लिये दुष्प्रेरित करना पता चला. जांच में पता चला कि आरोपी दबाव डालकर विश्वम्बर से 30 लाख रुपयों की मांग कर रहे थे.

2 आरोपी गिरफ्तार, एक फरार


पुलिस के मुताबिक आरोपियों के खिलाफ थाना सिविल लाइन में धारा 306, 384, 34 के तहत अपराध दर्ज किया गया. अपराध दर्ज होने की सूचना के बाद आरोपी फरार थे. पुलिस को जानकारी मिली कि प्रकरण के आरोपीगण अपने गृह जिला ग्वालियर में निवास कर रहे हैं. सिविल लाइन पुलिस की टीम द्वारा आरोपिया शारदा राठौर व महेश राठौर को पकड़कर थाना लाया गया जिससे पूछताछ करने पर अपराध धारा को घटित करना स्वीकार किया गया. बीते 13 जुलाई को आरोपियों की विधिवत गिरफ्तारी की गई. प्रकरण में एक अन्य आरोपी रामशंकर राठौर की पता तलाश विवेचना जारी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page