Indian News : राजधानी में भू-माफिया ने जमीन हड़पने का नया पैंतरा आजमाया है। उनकी योजना है कि जिस प्लॉट को हड़पना है, वहां बमबाजी कर दहशत पैदा कर दो, ताकि कोई विरोध न कर सके। इसका खुलासा सोमवार को तब हुआ, जब पुलिस ने दो किमी खदेड़ने के बाद दो जिंदा बम के साथ तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया।

इनमें सिसई निवासी असद नायाब (23), बड़ी मस्जिद पुंदाग निवासी परवेज अंसारी (35) और खुर्शीद अंसारी (44) हैं। पुलिस को सूचना मिली थी कि पुंदाग आईएसएम चौक के पास शाद ऑटो सर्विस हार्डवेयर सेंटर नामक दुकान में बम छिपा कर रखे गए हैं। इसी सूचना पर हटिया डीएसपी राजा मित्रा के नेतृत्व में पुलिस टीम ने छापेमारी की। डीएसपी के अनुसार, भू-माफिया के पूरे नेटवर्क काे खंगाला जा रहा है।

आरोपी बोले- भू-माफिया के कहने पर जमीन कब्जे के लिए रखे थे बम

गिरफ्तार अपराधियों ने बताया कि उन्हें पुंदाग में ही एक प्लॉट पर बम विस्फोट करना था। ये बम क्षेत्र में सक्रिय भू-माफिया के कहने पर दुकान में छिपाकर रखे गए थे। इधर, इस जानकारी के बाद पुलिस भू-माफिया की गिरफ्तारी की तैयारी में लगी है। इस कारण नाम बताने से इनकार कर दिया। इधर, पुंदाग ओपी प्रभारी विवेक कुमार ने बताया कि पहले वे सादे लिबास में उक्त दुकान में पहुंचे और रेकी की। उसके बाद जैसे ही इशारा किया, पुलिस बल छापेमारी के लिए पहुंची। बम रखने वाले दो अन्य अभियुक्त भागने लगे तो उनका पीछा करते हुए गिरफ्त में लिया।

बीडीबीएस टीम बोली- 10 लोगों को जख्मी कर सकते थे बम
बम बरामदगी के बाद हटिया डीएसपी ने झारखंड जगुआर के बम निरोधक दस्ते को बुलाया। बीडीबीएस टीम ने पुंदाग में ही एक खाली जमीन पर दोनों बम डिफ्यूज किए। टीम के दारोगा गणेश चंद्र पान ने बताया कि बम घातक थे, क्योंकि उनमें स्प्लिंटर डाले हुए थे। इसे पटकने पर आसपास में खड़े 10 लोग जख्मी हो सकते थे। तीन दिन पूर्व ही मधुकम क्षेत्र में भी बम मिला था, जिसे इसी टीम ने निष्क्रिय किया था। हालांकि वह इससे कम शक्तिशाली था।

ऐसे चल रहा भू-माफियाओं का नेटवर्क

1. राजधानी में शहर से सटे इलाकों में बहुत ही कम जमीन खाली है। ऐसे में जिले के बड़े भू-माफियाओं ने आपस में मिलकर एक नेटवर्क बना लिया है। जैसी डील, उसके अनुसार कमीशन का बंटवारा। इस नेटवर्किंग के पीछे सोच यह है कि भू-माफिया किसी प्लॉट को लेकर आपस में झगड़ें।

2. योजना के तहत अगर कोई जमीन शानदार लाेकेशन में है और मालिक बेचने में आनाकानी करता है तो उसे डराने के लिए प्लॉट में बमबाजी करनी है। पुंदाग में कई ऐसे प्लॉट हैं, जहां इसी तरह कब्जे किया गया है।

3. सूत्रों के अनुसार, भू-माफिया की पहुंच भी ऊपर तक है। फर्जी कागजात बनाना, ऊंची पहुंच दिखाकर जमीन मालिक पर दबाव बनाना इनकी रणनीति का हिस्सा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page