Indian News : मुंगेली । अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण छग शासन सदस्य एवं महिला कांग्रेस कमेटी प्रदेश महासचिव रत्नावली कौशल ने एक निजी स्कूल के बस कंडक्टर द्वारा मासूम छात्रा के साथ किए गए दुष्कर्म की घटना की कड़ी निंदा और आलोचना की है। कौशल ने जिले के सभी निजी स्कूलों की बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाने तथा महिला कंडटरों की तैनाती करने की मांग जिला कलेक्टर राहुल देव से भेंट कर की।

ज्ञापन में कौशल ने कलेक्टर से आग्रह किया है कि ऐसे नर पिशाचों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए, सुरक्षा मानकों पर खरा नहीं उतरने वाले तथा सीबीएसई और राज्य सरकार के प्रावधानों का पालन न करने वाले निजी स्कूलों की मान्यता रद्द कर उनके संचालकों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसके अलावा निजी स्कूल संचालकों को इस हेतु निर्देशित किया जाए कि वे अपनी सभी स्कूल बसों में सीसीटीवी कैमरे लगवाएं तथा स्कूल कैंपस और बसों में महिला गार्ड और महिला कंडक्टरों की तैनाती कराएं। इसके साथ ही उन्होंने आरोपी कंडक्टर को सख्त सजा दिए जाने पर भी जोर दिया है।

ज्ञात हो कि बीते सोमवार को अध्ययन इंटर नेशनल स्कूल करही की पांच वर्षीय छात्रा के साथ उसी शाला की स्कूल बस के कंडक्टर ने दुराचार किया था। इस घटना को लेकर जिले में आक्रोश की स्थिति देखी जा रही है। विभिन्न संगठनों ने घटना के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अनेक सामाजिक संगठनों और पालक संघों के पदाधिकारियों ने वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री रत्नावली कौशल से मुलाकात कर घटना का विस्तृत ब्यौरा उनके समक्ष रखा। इन पदाधिकारियों ने कौशल से आग्रह किया कि आप इस मामले में दखल देकर आरोपी कंडक्टर को कड़ी सजा दिलाने तथा स्कूल प्रबंधन के खिलाफ भी कार्रवाई कराने की पहल करें।

हिन्द सेना महिला ब्रिगेड राष्ट्रीय अध्यक्ष रत्नावली कौशल ने सामाजिक पदाधिकारियों और पालकों से कहा कि वे स्वयं इस घटना से हतप्रभ और दुखी हैं और चाहती हैं कि दोषी पर इतनी सख्त कार्रवाई होनी चाहिए कि दोबारा कोई भी शख्स इस तरह का घृणित कृत्य करने का दुस्साहस न कर सके। कौशल ने मिलने आए पदाधिकारियों को आश्वस्त किया कि मासूम छात्रा को वे इंसाफ दिलाकर रहेंगी। अनुसूचित जाति कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष रत्नावली कौशल ने कहा है कि स्कूल बस के कंडक्टर ने एक छोटी सी बच्ची के साथ जो हैवानियत की है, वह अति निंदनीय और अक्षम्य है, ऐसे नर पिशाचों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। कौशल ने कहा है जिले के निजी स्कूल संचालक पालकों से तरह – तरह की मोटी फीस वसूलते हैं,स्कूल बसों का किराया भी मनमाना वसूला जाता है,

लेकिन छात्र – छात्राओं की सुरक्षा के लिए न तो स्कूलों में और ना ही स्कूल बसों में कोई इंतजाम किया जाता है, नतीजतन छात्राओं के साथ अमानवीय घटनाएं हो जाया करती हैं, अध्ययन इंटर नेशनल पब्लिक स्कूल करही की पांच वर्षीय छात्रा के साथ स्कूल बस के कंडक्टर द्वारा की गई हैवनियत स्कूल प्रबंधन की लापरवाही और अनदेखी का ही नतीजा है। रत्नावली कौशल ने कहा है कि बस कंडक्टर का कृत्य अत्यंत घृणित है, ऐसे दानव को कड़ी सजा मिलनी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने जिले में संचालित सभी निजी स्कूलों के कैपस में पुरुष गार्डो के साथ ही महिला गार्डो की भी नियुक्ति तथा सभी निजी स्कूल बसों में सीसीटीवी कैमरे लगवाने व महिला कंडक्टरों की तैनाती करने की मांग कलेक्टर से की है। इसके अलावा कौशल ने सुरक्षा मानकों का उल्लंघन करने वाले स्कूलों की मान्यता रद्द करने पर भी जोर दिया है।

@indiannewsmpcg

Indian News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page