Indian News : बिलासपुर । छत्तीसगढ़ शासन द्वारा राज्य में पासपोर्ट बनवाने की प्रक्रिया में पुलिस सत्यापन के कार्य को सरलीकृत किये जाने, गति प्रदान कर आम नागरिकों को सुविधा प्रदान करने के दृष्टिगत M-Passport राज्य के चिन्हित जिलों के थानों में टेस्ट रन के बतौर व्यवस्था लागू की गई है। इससे मिलने वाले सकारात्मक परिणाम को ध्यान मे रखते हुए शासन द्वारा इसे राज्य के सभी जिलों के थानों में लागू किया जाने का निर्णय लिया गया तथा दिनांक 16 सितंबर, 2022 को पुलिस मुख्यालय, रायपुर में राज्य स्तरीय एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन कर प्रदेश के सभी नोडल अधिकारी एवं मास्टर ट्रेनर्स को आहूत कर प्रशिक्षित किया गया।

इसी क्रम में पुलिस मुख्यालय के निर्देशानुसार दिनांक 22.09.2022 को रेंज पुलिस महानिरीक्षक, कार्यालय बिलासपुर में एक दिवसीय प्रशिक्षण शाला का आयोजन रतन लाल डांगी, पुलिस महानिरीक्षक, बिलासपुर रेंज, बिलासपुर के मार्गदर्शन व उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। इस प्रशिक्षण शाला में दीपमाला कश्यप, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एवं रेंज स्तरीय नोडल अधिकारी तथा रेंज स्तरीय मास्टर ट्रेनर के द्वारा उपस्थित अधिकारी/कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया गया।

आईजी रतन लाल डांगी द्वारा प्रशिक्षण शाला में उपस्थित अधिकारी/कर्मचारियों को सम्बोधित कर पासपोर्ट सत्यापन की प्रक्रिया को सरल एवं पारदर्शी बनाने के लिए M-Passport का प्रशिक्षण थानों में सभी अधिकारी/कर्मचारियों को दिये जाने हेतु निर्देशित किया गया । पासपोर्ट सत्यापन की पूर्व की प्रक्रिया में आवेदक को थाने/पुलिस कार्यालय में उपस्थित होना पड़ता था, अब यह व्यवस्था लागू होने के बाद स्वतः पुलिस आवेदक द्वारा दिये गये पते पहुंचकर सत्यापन की प्रक्रिया पूर्ण करेगी जिससे जहां आमजनता का समय व धन बचत होगी वही पुलिस की उपस्थिति जनता के मध्य दर्ज हो सकेगी। डांगी द्वारा बताया गया कि थानों में पुलिस सत्यापन प्रक्रिया को सुगमता से संचालित किये जाने हेतु पुलिस आधुनिकीकरण योजना के तहत सभी थानों में टेबलेट एवं अन्य संसाधन भी उपलब्ध कराये जा रहे है।

पासपोर्ट सत्यापन हेतु आयोजित रेंज स्तरीय एक दिवसीय कार्यशाला में बिलासपुर रेंज के जिला गौ.पे.म. से अर्चना झा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सहित अन्य जिलों के 06 राजपत्रित अधिकारी, थाना प्रभारीगण, जिला विशेष शाखा प्रभारीगण, सीसीटीएनएस प्रभारी सहित कुल 50 स्टाफ को M-Passport का प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण के दौरान रेंज स्तरीय नोडल अधिकारी एवं मास्टर ट्रेनर्स के द्वारा प्रशिक्षण में उपस्थित अधिकारी/कर्मचारियों के शंकाओं का समाधान किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page