Indian News : भिलाई नगर निगम के प्लेसमेंट सफाई कर्मचारियों ने निगम कार्यालय का घेराव करते हुए उन्हें समय पर वेतन न दिए जाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा 50 से अधिक सफाई कर्मियों का जुलाई माह और 1700 कर्मियों का अगस्त माह का वेतन नहीं दिया गया। इसके विरोध में उन्होंने नगरीय निकाय जनवादी सफाई कामगार यूनियन छग मुक्ति मोर्चा मजदूर कार्यकर्ता समिति के नेतृत्व में सोमवार सुबह से कामबंद कर विरोध प्रदर्शन किया।

यूनियन छग मुक्ति मोर्चा के नेताओं का कहना है कि, मजदूर कड़ी मेहनत करके दो वक्त की रोजी रोटी कमाता है। निगम के कर्मचारियों का पूरी तरह से शोषण किया जा रहा है। सफाई ठेकेदार उनका समय पर भुगतान नहीं कर रहा है। निगम प्रशासन से शिकायत करने पर वो कहते हैं कि सफाई कर्मचारी उनके नहीं ठेकेदार के कर्मचारी हैं। वहीं जब काम करना होता है तो उन्हें निगम अपना सफाई कर्मचारी कहता है। राज्य और भिलाई नगर निगम दोनों जगह कांग्रेस की सरकार है ऐसे में निगम फंड की कमी कैसे कह सकती है।

कुछ मजदूरों को दिया गया वेतन


सफाई कर्मचारियों के विरोध प्रदर्शन के बाद निगम प्रबंधन ने आनन फानन में सफाई ठेकेदार वी रमन को बुलाया। इसके बाद पुलिस प्रशासन व तहसीलदार की उपस्थित में चर्चा की गई। सफाई कर्मियों ने अधिकारियों से कहा कि उनका वेतन देरी से क्यों दिया जाता है। साथ ही उनका पीएफ, ईएसआई समय से जमा होता है कि नहीं इसकी जानकारी दी जाए। इसके बाद दोनों पक्षों में मामला शांत हुआ और शाम को सफाई ठेकेदार ने कुछ मजदूरों को वेतन जारी कर दिया है। ठेकेदार रमन का कहना है कि निगम से उसे समय पर भुगतान नहीं होता है। वहां से भुगतान होते ही वह मजदूरों का वेतन देता है। उसकी तरफ से कोई देरी नहीं की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page