Indian News : भिलाई टाउनशिप में मैत्रीबाग के पास स्थित जल उद्यान शोधन केंद्र में 12 फीट लंबा और 15 किलो वजनी अजगर मिला है। एक विशाल अजगर देखकर जल शोधन केंद्र का गार्ड दहशत में आ गया। इसके बाद उन्होंने स्नेक कैचर को फोन किया। स्नेक कैचर ने बाइक व टॉर्च की रोशनी में अजगर सांप का रेस्क्यू किया।

स्नेक कैचर राजा कुमार ने बताया कि उनके पास रात 10-10.30 बजे के करीब जल उद्यान शोधन केंद्र फोन आया था। वहां के गार्ड संजय दत्ता ने बताया कि उनके केंद्र में एक विशालकाय अजगर है। सूचना मिलते ही राजा मौके पर पहुंचे। उन्होंने देखा कि जहां अजगर है वहां काफी अंधेरा था। इसके बाद उन्होंने दो-तीन बाइक को स्टार्ट करके उसकी हेड लाइट को जलवाया।

गार्ड से टार्च मंगवाई और उसकी रोशनी में आधे घंटे की मशक्कत के बाद अजगर का रेस्क्यू किया। स्नेक कैचर राजा का कहना है कि अजगर मुख्यतः पानी वाले क्षेत्रों में पाया जाता है। इसलिए वो इस अजगर को आज शिवनाथ नदी दुर्ग में सुरक्षित छोड़ देंगे।

रेस्क्यू के दौरान अजगर ने किया हमला

राजा ने बताया कि वह अजगर को पकड़ने गए तो अजगर काफी गुस्से में आ गया था। उसने उनके ऊपर कई बार हमला किया। लेकिन ट्रेनिंग की बदलौतल वह उससे बचने में कामयाब रहे। इसके बाद उसे पकड़कर बोरी में बंद करके सुरक्षित रखा गया।

आम इंसान पकड़ने की न करे गलती


स्नेक कैचर राजा का कहना है कि आम इंसान कभी भी अजगर या दूसरे सांप को पकड़ने की गलती न करें। अपने नजदीक के स्नेक कैचर को फोन करके बुलाए। अजगर में जहर नहीं होता, लेकिन ये एक बड़ा शिकारी सांप होता है। यह इंसान या जानवर को अपने शरीर से लपेट लेता है। इसके बाद वह उसकी हड्डियां तोड़कर मार देता है और उसे निगल जाता है। दुर्ग भिलाई के लोग अगर कहीं भी सांप या बंदर आदि देखें तो उसे मारे नहीं। स्नेक कैचर राजा कुमार के मोबाइल नंबर 9200307006 पर फोन करके उसे तुरंत बुलाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page