Indian News : कोरबा जिले के रजगामार में लोग उस वक्त हैरान रह गए, जब उन्होंने एक सांप को दूसरे सांप का शिकार करते हुए देखा। रजगामार ओमपुर में रहने वाले ज्ञानचंद साहू बुधवार रात 10 बजे सोने की तैयारी कर रहे थे। उसी समय उन्होंने एक चमकदार पट्टी देखी। जब उन्होंने नजदीक जाकर देखा, तो उनके होश उड़ गए, क्योंकि वो अहिराज सांप था, जो कोबरा को निगलने की कोशिश कर रहा था।

ज्ञानचंद साहू ने तुरंत मामले की जानकारी स्नेक रेस्क्यू टीम को दी। सर्प मित्र विक्की तुरंत मौके पर पहुंचे और उन्होंने बड़ी ही सावधानी से सांप को रेस्क्यू कर डिब्बे में बंद कर दिया। हालांकि तब तक सांप ने कोबरा को निगल लिया था। बाद में अहिराज सांप को ले जाकर जंगल में छोड़ दिया गया।

इधर सांप के डिब्बे में बंद हो जाने से लोगों ने राहत की सांस ली। स्नेक रेस्क्यू टीम के अध्यक्ष जितेंद्र सारथी ने सांप घर में घुस जाने पर हेल्पलाइन नंबर 8817534455 पर सूचना देने की बात कही।

कोरबा में लगातार घर में घुस रहे सांप

अभी 17 सितंबर को भी कोरबा जिले के रामपुर चौकी क्षेत्र में करैत सांप के काटने से बच्ची की मौत हो गई थी। नकटीखार गांव में रहने वाले श्याम दास महंत की 6 साल की बेटी पलक को उस समय करैत सांप ने पीठ में काट लिया था, जब वो सो रही थी।

कोरबा जिले में लगातार सांप के घर में घुस जाने की घटनाएं सामने आ रही हैं। 3 दिन पहले ही शहर के कोसाबाड़ी स्थित घर के एसी से सांप को निकाला गया था। 4 फीट लंबा रैट स्नेक चूहे के लिए घर में घुस आया था। वहीं पिछले महीने रामपुर इलाके में भी जूते के रैक से कोबरा सांप को रेस्क्यू किया गया था। जूते-चप्पलों के बीच छिपे कोबरा को देख लोगों के रोंगटे खड़े हो गए थे। मकान मालिक राजेश बरवे ने स्नेक कैचर जितेंद्र सारथी को बुलाया, जिसके बाद सांप को निकालकर जंगल में छोड़ा गया।

इससे पहले कोरबा के CSEB ऑफिसर कॉलोनी स्थित बीकन इंग्लिश स्कूल में भी सांप घुस गया था। जिससे टीचर्स और बच्चे दहशत में आ गए थे। बाद में स्नेक रेस्क्यू टीम ने सांप को पकड़ा था।शहर के वार्ड क्रमांक 54 में भी 6 फीट लंबे अजगर ने एक मुर्गी को अपना निवाला बना लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page