Indian News : बैलाडीला |  बैलाडीला की पहाड़ियों पर स्थित आकाश नगर की खूबसूरती का करीब से दीदार करने शनिवार को सैलानी उमड़ पड़े। बस्तर और छत्तीसगढ़ के अलावा पड़ोसी राज्यों से भी बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचे थे।

बता दें कि छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में स्थित आकाशनगर को प्रदेश का सबसे ऊंचा हिल स्टेशन माना जाता है। हर साल विश्वकर्मा पूजा के अवसर पर 17 सितंबर को इसकी पहाड़ियों की खूबसूरती निहारने का मौका आम लोगों को दिया जाता था। लेकिन पिछले दो सालों से कोरोना काल में इसकी अनुमति नहीं दी जा रही थी।

इस बार कोरोना के हालात सामान्य हुए तो एनएमडीसी प्रबंधन द्वारा आम लोगों को आकाशनगर और माइंस एरिया में सैर की अनुमति दी गई, जिसका सैलानियों ने भरपूर लाभ उठाया। आकाश नगर को बादलों का नगर कहे तो यह कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। बरसात के समय तो यहां बादल पूरी तरह से छाए रहते हैं। पहाड़ियों पर बादलों का जमावड़ा ऐसा रहता है कि कई बार दिन में भी एक फीट की दुरी का दृश्य भी साफ नजर नही आता है।

आकाश नगर तक पहुंचने के लिए आपको पहले बचेली आना होगा। यहां से इसकी दूरी 28 किमी है। सर्पीली धुमावदार घाटियों से होकर आकाश नगर तक का सफर बेहद रोमांचक होता है। एक तरफ हरियाली से भरे मनमोहक दृश्य और दुसरी तरफ गहरी खाईयां, ये दोनो के दृश्यों से भय एवं रोमांच का मिश्रित भाव उत्पन्न होता है।

बैलाडिला की पूरी पहाड़ियां घने वनों से ढकी हुई है, जिसके कारण यहां अक्सर बारिश होते रहती है। अधिक उंचाई पर स्थित होने से यहां की पहाड़ियां साल में अधिकतर समय बादलों से ढकी रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page