Indian News : मंगलवार सुबह सारंगढ़ के कोतरी गांव में एक ट्रक ड्राइवर ने नशे की हालत में स्कूटर से जा रही नर्स को रौंद दिया। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। आक्रोशित लोगों ने ड्राइवर को उतारकर जमकर पीटा। हाथ-पैर बांध कर उसको पुलिस के आने तक बैठाए रखा। गुस्साए लोग लगभग 6 घंटे तक चक्काजाम कर मुआवजा मांगते रहे। प्रशासन के लिखित आश्वासन के बाद लोगों ने हाइवे पर रास्ता खोला।

बासिनबहरा की प्रियंका रात्रे रेड़ा स्वास्थ्य केंद्र में नर्स थी। वह ड्यूटी के लिए अस्पताल जा रही थीं। कोतरी के बीच गांव के भीतर से मुख्यमार्ग को जोड़ने के रास्ते में एक ट्रक पीछे से आया और स्कूटी सवार नर्स को अपनी चपेट में ले लिया। सुबह 10 बजे हादसे के बाद नर्स की मौत से गुस्साए परिजन और ग्रामीणों ने शाम 4 बजे तक सड़क जाम कर दी। गांव वालों की मांग थी कि नर्स के नाम पर अस्पताल बनाया जाए।

साथ ही मृतका के परिजन को सहायता दी जाए। पुलिस और प्रशासन के लोग लोगों को समझाते रहे लेकिन वे नहीं माने। आखिर में अफसरों ने प्रशासन की तरफ से युवती के नाम पर अस्पताल बनाने का लिखित आश्वासन दिया। ट्रक सारंगढ़ के ही किसी ट्रांसपोर्टर का बताया है।

रोड पर रोककर शराब पी थोड़ी दूर पर नर्स को रौंदा

आसपास के लोगों ने बताया कि ड्राइवर ने कोतरी के पास सड़क किनारे एक शराब दुकान पर ट्रक रोका था। इसने यहां शराब पी, थोड़ी देर रुका रहा और फिर नशे में झूमता हुआ ट्रक पर बैठा। थोड़ी ही दूर पर नर्स को रौंद दिया। गांव वालों ने बताया कि सड़क किनारे शराब दुकान को हटाने की मांग वे बहुत पहले से करते आ रहे हैं लेकिन सुनवाई नहीं हुई। यहां हाइवे पर चलने वाले ड्राइवर रुककर शराब पीते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page