Indian News : गाजियाबाद में मुफ्त थाली के ऑफर के झांसे में आकर युवक ने एक लाख 52 हजार रुपये गंवा दिए। आरोपियों ने पहले तो ऑर्डर बुक करने के लिए लिंक भेजकर दस रुपये ट्रांसफर कराए और उसके बाद ऐप डाउनलोड कराई। ऐप डाउनलोड करते ही खाते से रकम साफ हो गई। पीड़ित की शिकायत पर नंदग्राम पुलिस ने केस दर्ज किया है। नंदग्राम थानाक्षेत्र के बनवारी नगर निवासी रविंद्र कुमार का कहना है कि सुबह करीब साढ़े नौ बजे वह मोबाइल चला रहे थे। तभी उनके पास एक मैसेज आया। सागर रतन रेस्टोरेंट के नाम से आए मैसेज में एक थाली का ऑर्डर देने पर दो थाली मुफ्त देने का ऑफर था।

मैसेज में एक नंबर दिया हुआ था। उसे मिलाने पर ट्रू-कॉलर पर भी सागर रतन का नाम आया। बात करने पर सामने वाले व्यक्ति ने सागर रतन रेस्टोरेंट का ऑफर बताया और दस रुपये बुकिंग राशि भेजने के लिए कहा। इसके बाद उसने उन्हें व्हॉट्सऐप पर एक लिंक भेजा। उन्होंने दस रुपये का भुगतान कर दिया। इसके बाद उनके पास मैसेज आया कि ऐप डाउनलोड करके अपना ऑर्डर कंफर्म कर लो।

आरोप है कि ऐप डाउनलोड करते ही उनके खाते से 50 हजार 773 रुपये कट गए। तुरंत बाद ही दोबारा से 50 हजार 898 रुपये खाते से कट गए। इस तरह उनके खाते से एक लाख 52 हजार रुपये साफ कर दिए गए। घटना के संबंध में पीड़ित ने नंदग्राम थाने में शिकायत दी। एसएचओ रमेश सिंह सिद्धू का कहना है कि केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

यह बरतें सावधानी

– ऐप के जरिये लोन लेने से बचें। प्ले स्टोर के अलावा किसी अन्य स्रोत से ऐप डाउनलोड न करें।
– जिस ऐप में पैनकार्ड-आधार कार्ड की डिटेल या फोटो अपलोड करने के लिए कहा जा रहा हो, उन्हें डाउनलोड न करें।
– ऐप डाउनलोड करते समय मैसेज और गैलरी का एक्सेस न दें। ऐसा करने पर डाटा तथा मोबाइल पर आने वाला ओटीपी ठगों तक पहुंच जाएगा।

यहां लें मदद

– 1930 पर कॉल करें। कॉल करने पर संदेश मिलेगा, जिसमें यूजर आईडी और पासवर्ड मिलेगा। संदेश में दिए लिंक को क्लिक करके उसमें जानकारी भरकर सबमिट कर दें।
– संबंधित साइबर सेवा केंद्र या साइबर सेल पर तत्काल पहुंचे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page