Indian News : औरंगाबाद जिले का रहने वाले हार्डकोर नक्सली को अर्द्ध सैनिक बलों ने बांकेबाजार क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया है। उसके खिलाफ नक्सली वारदात से जुड़े 44 केस औरंगाबाद व गया जिले के विभिन्न थानों में दर्ज हैं। वह बीते आठ वर्षों से फरार चल रहा था। रोशनगंज थाना में उसके खिलाफ बीते दिनों नक्सली गतिविधि में शामिल होने का भी एक केस दर्ज कराया गया था।

पकड़े गए नक्सली की पहचान संजय यादव उर्फ अभय के रूप में हुई है। उससे बांकेबाजार थाना में पूछताछ पुलिस कर रही है। नक्सली के संजय के खिलाफ मध्य विद्यालय सोनदाहा को सिलेंडर बम लगाकर उड़ा देने का भी केस दर्ज है। इस घटना को नक्सलियों ने 18 फरवरी 2020 को अंजाम दिया था। दो मंजिला स्कूल पूरी तरह से ध्वस्त हो गया था जो कि आज भी ध्वस्त ही पड़ा है। संजय माओवादियों के सशस्त्र लड़ाकू दस्ते का अहम सदस्य रहा है।

बताया गया है कि गुप्त सूचना के आधार पर एसएसबी 29 वीं वाहिनी के कमांडेंट हरे कृष्ण गुप्ता ने ए कंपनी भलुआही के कंपनी कमांडर रवि कुमार और नक्सली संजय को गिरफ्तार करने की जिम्मेदारी थी। सूचना थी कि संजय बांकेबाजार क्षेत्र में नक्सली गतिविधियों को अंजाम दे रहा था। इस पर स्थानीय पुलिस के सहयोग से एसएसबी की टीम ने बांकेबाजार क्षेत्र में अपना जाल बिछाया और सोमवार की शाम को उसे गिरफ्तार कर लिया। हालांकि उसके पास से कोई भी हथियार बरामद नहीं हुआ है। वह अकेला ही बांकेबाजार क्षेत्र से निकल कर गांव की ओर जा रहा था। पकड़ा गया नक्सली औरंगाबाद के कुटुंबा थाना क्षेत्र के बेलबिगहा गांव का रहने वाला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page