Indian News : सेना में महिलाओं को बराबर का मौका देने की बड़ी पहल के तहत भारतीय सेना ने लेफ्टिनेंट कर्नल पद पर कार्यरत 108 महिला अफसरों को कर्नल रैंक में प्रमोशन देने का फैसला किया है। इतनी बड़ी संख्या में महिला अधिकारियों का सेना कर्नल रैंक में प्रमोशन की प्रक्रिया बेहद खास है। कर्नल रैंक में प्रमोशन हासिल करने वाली सभी महिला अफसरों को सेना इसी महीने कमान असाइनमेंट पर तैनाती का आदेश भी जारी कर देगी।

सेना में कर्नल रैंक की 108 रिक्तियां

सूत्रों के अनुसार, सेना जनवरी के आखिर तक कर्नल रैंक में पदोन्नत की गई महिला अधिकारियों के पहले बैच की अलग-अलग ब्रांचों में तैनाती की अधिसूचना भी जारी कर देगी। सेना में महिला अफसरों को उनके पुरुष समकक्षों के बराबर लाने के लिए विशेष चयन बोर्ड की प्रक्रिया बीते 9 जनवरी से शुरू की गई है जो 22 जनवरी को पूरी हो जाएगी। सूत्रों ने बताया कि इसमें 1992 से 2006 बैच तक विभिन्न शस्त्र और सेवा इंजीनियर, सिग्नल, सेना वायु रक्षा, खुफिया कोर, सेना सेवा कोर, सेना आयुध कोर और इलेक्टि्रकल और इंजीनियर्स और मैकेनिकल में 108 कर्नल रैंक की रिक्तियां हैं। इसके लिए दावेदार कुल 244 महिला अधिकारियों में 108 को पदोन्नति दी जाएगी।

चयन बोर्ड की प्रक्रिया 22 जनवरी को

पदोन्नति प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए सेना ने कुल 60 प्रभावित महिला अधिकारियों को चयन बोर्ड के लिए पर्यवेक्षक के रूप में बुलाया गया है, ताकि निष्पक्ष आचरण सुनिश्चित किया जा सके और दावेदार महिला अफसरों की किसी भी तरह की आशंका को स्पष्ट किया जा सके। 22 जनवरी को चयन बोर्ड की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तो इसमें फिट घोषित की गई 108 महिला अधिकारियों को विभिन्न कमांड असाइनमेंट पर तैनात करने की प्रक्रिया इसी महीने शुरू कर दी जाएगी।

महिलाओं को समान अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से सेना ने महिला अधिकारियों को उनके पुरुष समकक्षों के बराबर स्थायी कमीशन (पीसी) प्रदान किया है। स्थाई कमीशन हासिल करने वाली सभी महिला अधिकारी सेना में उच्च नेतृत्व की भूमिकाओं के लिए उन्हें सशक्त बनाने के लिए विशेष प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के साथ चुनौतीपूर्ण सैन्य कार्य भी कर रही हैं। जूनियर बैचों में भी महिला अधिकारियों के लिए पीसी शुरू हो गया है जिसमें उनकी सेवा के 10वें वर्ष में स्थाई कमीशन पर विचार किया जाता है।

सेना में महिलाओं के आगे आने की शुरूआत का नमूना यह भी है कि पहली बार पांच महिला अधिकारियों ने प्रतिष्ठित रक्षा सेवा स्टाफ कोर्स और रक्षा सेवा तकनीकी स्टाफ कोर्स परीक्षा पास की है। इन पांचों महिला अफसरों को एक साल का कोर्स करना होगा और भविष्य में कमांड नियुक्तियों के लिए विचार किए जाने के दौरान उन्हें इसका पर्याप्त वेटेज मिलेगा। वैसे सेना में महिला कॉम्बैट एविएटर्स विभिन्न विमानन इकाइयों में अपने समकक्षों के साथ शामिल हो गई हैं।

इंजीनियर्स, आर्मी एयर डिफेंस और सिग्नल के हिस्से के रूप में महिला अधिकारी पहले से ही तैनाती के अग्रिम क्षेत्रों में अपनी पहचान बना रही हैं। महिलाओं को जल्द ही आर्टिलरी कोर में शामिल किया जाएगा। हाल ही में एक महिला अधिकारी को सियाचिन ग्लेशियर में एक पोस्ट पर तैनात किया गया है। संयुक्त राष्ट्र के विभिन्न शांति मिशनों में भारतीय महिला सैनिकों की भूमिका में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।

@indiannewsmpcg

Indian News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page