Indian News : पटना | पटना पुलिस ने शनिवार को जिले के धनरुआ थाना क्षेत्र के पुरैनी गांव में एक मिनी गन फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। पटना के पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) मानवजीत सिंह ढिल्लों ने कहा कि गन फैक्ट्री के सिलसिले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया, लेकिन गिरोह का सरगना मौके से फरार होने में सफल रहा। ढिल्लों ने कहा, हाल ही में हमने नौबतपुर इलाके में दो मिनी गन फैक्ट्रियों का पता लगाया। आरोपियों से पूछताछ के दौरान, हमें पुरैनी स्थित गन फैक्ट्री के बारे में जानकारी मिली थी। आगे कहा कि हमने छापेमारी के लिए एक टीम का गठन किया और एक नकली ग्राहक को मिनी गन कारखाने में भेजा।

उस नकली ग्राहक ने मिनी गन कारखाने तक पहुंचे के लिए किंगपिन भरत यादव के साथ संपर्क स्थापित किया। नकली ग्राहक ने यादव का विश्वास जीत लिया, तो यादव ने ग्राहक को फैक्ट्री का पता पता दिया। डीआईजी ढिल्लों ने कहा कि इसी के अनुसार नकली ग्राहक वहां गया और उस जगह की फोटोग्राफी की। जब उसने हमें इशारा किया, तो हमने उस जगह पर छापा मारा और तीन लोगों को गिरफ्तार किया।

तीनों आरोपी हथियार बनाने वाले हैं। उन्हें किंगपिन भरत यादव ने काम पर रखा था। गिरफ्तार लोगों की पहचान विजय बिंद, धनंजय कुमार और सीताराम जतन सिंह के रूप में हुई है। डीआईजी ने कहा, हमने जगह से बड़ी संख्या में अर्धनिर्मित देशी तमंचे, उपकरण के अलावा अन्या सामान बरामद किया है। मुख्य आरोपियों को पकड़ने के प्रयास जारी हैं।

@indiannewsmpcg

Indian News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page