Indian News : सीवान | बिहार के सीवान जिले में महिलाओं के स्वास्थ्य और उनकी स्वच्छता के लिए अभियान चलाया जा रहा है. इसके लिए जिले के एक कॉलेज में सेनेटरी नैपकिन के लिए ऑटोमैटिक मशीन लगाई गई है. इसका फायदा ये होगा कि लड़कियों को महज 5 रुपए में सेनेटरी पैड मिल सकेगा.

ये मशीन सीवान के गोपालगंज रोड स्थित श्रीमती राजवंशी देवी बालिका उच्च विद्यालय सह इंटर कॉलेज में लगाई गई है. लायंस क्लब इंटरनेशनल की सीवान शाखा की टीम अध्यक्ष रूपेश कुमार के नेतृत्व में ये पहल की गई है. जिले में मात्र ये एक कॉलेज है, जहां ऑटोमैटिक सेनेटरी नैपकिन मशीन लगाई है. हालांकि, इस तरह की मशीनों को अन्य कॉलेज में स्थापित करने का भी उदेश्य है जिसके लिए विचार विमर्श किया जा रहा है.

सर्वेक्षण रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा


बिहार में मासिक धर्म से जुड़ी समस्याओं के कारण लड़कियों के हाई स्कूल व कॉलेज छोड़ने की प्रवृति आम हो रही है. राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण की रिपोर्ट कहती है कि हाई स्कूल नहीं जाने वाली 80 प्रतिशत लड़कियां माहवारी के समय कपड़े का उपयोग करती हैं और केवल 32 प्रतिशत लड़कियां सेनेटरी नैपकिन का इस्तेमाल करती हैं. वहीं स्कूल जाने वाली लड़कियों में यह आंकड़ा क्रमश: 35.6 और 76.8 प्रतिशत है. ऐसे में सुरक्षित और स्वच्छ तरीकों को बढ़ावा देने के लिए स्कूलों में सेनेटरी पैड मशीन संस्थाओं के द्वारा स्थापित किए जा रहे हैं.

महिलाओं की बढ़ाती है परेशानी


नारी स्वास्थ्य और स्वच्छता का मामला बेहद गंभीर मसला रहा है. माहवारी जैसी प्रक्रिया, एनीमिया जैसा रोग नारी के लिए किसी दुःस्वप्न से कम नहीं. स्वच्छता के संदर्भ में कम जानकारी का अभाव एक गंभीर संक्रमण का कारण भी बन जाता है. जो कभी-कभी जानलेवा भी साबित होता है. प्रति वर्ष कई नारी शक्ति संक्रमण की शिकार होकर, खून की कमी के कारण अपने जिंदगी से हाथ धो बैठती हैं.

मोबाइल और सोशल मीडिया की जानकारी


लायंस क्लब टीम विशेषज्ञों के साथ मिलकर विभिन्न स्कूलों में जाकर वहां लड़कियों को स्वास्थ्य और स्वच्छता के संदर्भ में जागरूक कर रही है. इसके अलावा बच्चियों को गुड टच और बैड टच के बारे में भी बताया जा रहा है. मोबाइल और सोशल मीडिया के संदर्भ में सचेत करने के प्रयास किए जा रहे हैं. जागरूकता का यह प्रयास बेहद सराहनीय है.

जागरूकता एक अनिवार्य तथ्य


लायंस क्लब के सदस्य व बुद्धिजीवी गणेश दत्त पाठक बताते हैं कि नारी स्वास्थ्य और स्वच्छता का मामला बेहद विडंबनामय रहा है. हम तमाम तकनीकी क्रांति यथा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, बायो टेक्नोलॉजी, स्पेस टेक्नोलॉजी के युग में हैं, लेकिन हकीकत यह भी है कि नारी स्वास्थ्य, स्वच्छता के संदर्भ में खुलकर बात भी नहीं हो पाती है. नतीजा यह होता है कि नारी शक्ति जानकारी के अभाव में संक्रमण का शिकार होकर अनेक बीमारियों की शिकार हो जाती है और परिवार को भी संकट का सामना करना पड़ता है.

जिले के अन्य विद्यालयों में मशीन लगाने की तैयारी


लायंस क्लब सीवान के अध्यक्ष रूपेश कुमार ने कहा है कि जिले के अन्य स्कूलों में भी ऐसे मशीन और भी लगाने के प्रयास किए जाएंगे. यह प्रयास महिला स्वास्थ्य और स्वच्छता से संबंधित एक महान प्रयास है, जो पता नहीं कितनी नारी शक्ति के रक्षा करने में कामयाब हो पाएगा. यह प्रयास बेहद ही सराहनीय है.

छात्राओं को मिलेगा फायदा

श्रीमती राजवंशी देवी बालिका उच्च विद्यालय इंटर कॉलेज की प्रभारी प्रधानाचार्य रेणु तिवारी ने बताया कि छात्राओं के पीरियड्स आने पर वह छुट्टी लेकर घर चली जाती हैं. उन्हें काफ़ी परेशानी होती है. पीरियड की वजह से वह हफ्ते दिन तक विद्यालय नहीं आती हैं. जिस वजह से उनकी पढ़ाई भी बाधित होती है. हालांकि विद्यायल में सेनेटरी पैड वेडिंग मशीन लायंस क्लब के द्वारा लगा दी गई है. जिससे छात्राओं को काफी फायदा होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page