Indian News : सदर पंचायत के बैलाझखड़ा गांव स्थित गयाडीह टोला पर बनाए जा रहे आंगनबाड़ी केंद्र में खड़े किए गए कई सीमेंटेड पिलर को बीती रात्रि तोड़कर क्षतिग्रस्त कर दिया गया है। उक्त कारण आंगनबाड़ी केंद्र का निर्माण कार्य फिलहाल अधर में लटक गया है। वही मामले की नामजद शिकायत कर सेविका के पति इलियास अंसारी ने इसकी जानकारी सीओ चोनाराम हेम्ब्रम को दिया है। सीओ को दिए आवेदन में लिखा है कि पास पड़ोस के लोगों के द्वारा कुछ दिन पहले निर्मित भवन को क्षतिग्रस्त करने की धमकी दी गई थी।

उन्हीं लोगों के द्वारा निर्माण कार्य के लिए खड़े किए गए पिलर को बीती रात्रि तोड़ने का काम किया गया है। मालूम हो कि कुछ दिन पूर्व आंगनबाड़ी केंद्र निर्माण को लेकर बैलाझखड़ा गांव में विवाद चल रहा था। एक पक्ष का कहना था कि आंगनबाड़ी केंद्र का निर्माण दूसरी जगह होना चाहिए। निर्माण को लेकर दोनों पक्षों में काफी कहासुनी भी हुआ था। इसके बाद अंचलाधिकारी द्वारा मामले का निपटारा करते हुए आंगनबाड़ी निर्माण को लेकर जगह चिन्हित कर सीमांकन किया गया था। सीमांकन के बाद भी शरारती तत्वों द्वारा गाड़े गए पत्थर को उखाड़ कर फेंक दिया गया था।

जिसे लेकर सीओ ने सख्त चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर दोबारा ऐसा किया गया तो उस पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। वहीं आंगनबाड़ी केंद्र निर्माण के लिए सीओ की उपस्थिति में सीमांकन कार्य के दौरान ही गांव के अमीरउद्दीन अंसारी व उसके परिजनों के द्वारा उस पर आपत्ति जताया गया था। इस बीच उनके द्वारा सीओ से मांग किया गया था कि मेरे गांव में महज 3 डिसमिल जमीन ही गैरमजरूआ जमीन नहीं है बल्कि गांव में 3 से 4 एकड़ जमीन गैरमजरूआ पड़ा हुआ है। बावजूद वहां पर आंगनबाड़ी केंद्र निर्माण के लिए सीमांकन न कर सिर्फ मेरे घर के दरवाजे के सामने ही किया जा रहा है जो समझ से परे है।

@indiannewsmpcg

Indian News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page