Indian news : अहमदाबाद | गुजरात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के दौरान सुरक्षा में सेंधमारी की कोशिश का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस ने तीन स्थानीय लड़कों को अरेस्ट किया है। दरअसल, पीएम मोदी गुरुवार को अहमदाबाद जिले के बावला गांव में एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान कुछ लोगों ने पास ही एक ड्रोन उड़ता देखा। तुरंत पुलिस को सूचना दी गई। हालांकि, पीएम मोदी ड्रोन उड़ने वाली जगह से दूर थे। पुलिस ने तुरंत एक्शन लेते ही ड्रोन उड़ाने वाले तीन युवकों को अरेस्ट कर लिया।

पीएम जहां होते हैं, वह नो फ्लाई जोन होता है


दरअसल, पीएम मोदी की रैली में रिमोट से संचालित ड्रोन का इस्तेमाल कर भीड़ की तस्वीर ली जा रही थी। यहां तीन स्थानीय लोग निकुल रमेशभाई परमार, राकेश कालूभाई भारवाड़ और राजेशकुमार मांगीलाल प्रजापति सोशल मीडिया के लिए भीड़ की तस्वीरें खींच रहे थे, जिन पर भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

नो फ्लाई जोन में ड्रोन उड़ाने की सख्त मनाही


जानकारी हो कि जब भी देश के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और मुख्यमंत्री की कहीं रैली या सभा का आयोजन किया जाता है, तो स्थानीय प्रशासन के द्वारा वहां निषेधाज्ञा का पालन करना होता है। वहीं, रैली स्थाल के आसपास नो ड्रोन फ्लाई जोन घोषित की जाती है, जिसका सभी को पालन करना होता है।

पुलिस ने की ड्रोन की जांच


पुलिस ने तीनों को अरेस्ट कर ड्रोन को जब्त किया। इसके बाद ड्रोन की जांच कर रही टीम ने बताया कि, ड्रोन से वीडियो फिल्म बनाई जा रही थी। ड्रोन में किसी प्रकार का संदेहास्पद चीज नहीं थी। वहीं, गिरफ्तार किए गए युवकों के पास से भी कोई आपत्तिजनक सामान बरामद नहीं हुआ है।

@indiannewsmpcg
Indian News

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page