Indian News :  नागौर जिले के मेड़ता रोड थाना क्षेत्र के हंसियास गांव स्थित नलकूप पर कृषि कार्य करने वाले परिवार की बालिका के साथ नाबालिक बालकों द्वारा दुष्कर्म करने का मामला प्रकाश में आया है. 

इस संबंध में नागौर पुलिस अधीक्षक राममूर्ति जोशी द्वारा मेड़ता रोड थाने पहुंच घटना की जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए. पुलिस ने पोक्सो एक्ट सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर अबोध बालिका का मेडिकल करवाया.

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार, एक व्यक्ति ने रिपोर्ट पेश कर बताया कि 4 जुलाई को 7 वर्षीय पुत्री के शरीर में दर्द होने लगा तो उसे राजकीय अस्पताल मेड़ता सिटी में दिखाकर दवा दिलाई गई . 

5 जुलाई को बच्ची द्वारा प्राइवेट पार्ट में दर्द होना बताया, उसके बाद बालिका ने पिता को बताया कि करीब 4-5 दिन पहले पड़ोस में ही रहने वाले दो नाबालिक आरोपियों ने उसे बहला फूसलाकर कुंए पर आकर छपरा में ले जाकर गलत काम किया. 

वहीं, दोनों जनों के द्वारा गलत कृत्य करने पर वह चिलाई तो एक नाबालिग आरोपी का मामा आ गया, तब बच्ची ने सारी घटना मामा को बताई. इस दरमियान दोनों नाबालिगों द्वारा उसके साथ मारपीट करते हुए डराया धमकाया कि यह बात किसी तो बता दी तो तेरी मम्मी, पापा को चाकू से मार देंगे. इस डर के कारण बालिका ने किसी को यह घटना नहीं बताई. 

पुलिस ने मामला दर्ज कर अबोध पीड़िता का मेडिकल करवाया गया . पुलिस आरोपी नाबालिग की उम्र जांच के प्रयास कर रही है. बताया जा रहा है कि एक नाबालिक 7 साल का ही है. पुलिस अधीक्षक राममूर्ति जोशी ने बताया कि नाबालिक बच्चों की उम्र की प्रमाणिकता के साथ ही जांच आगे बढ़ाई जाएगी. नागौर पुलिस अधीक्षक ने कहा पुलिस मामले की हर एंगल से जांच कर रही है. 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page