BCCI Indian News

खिलाड़ियों से कहा गया है कि वे अपनी फिटनेस की तैयारी शुरू कर दें ताकि वे अगले महीने एक्शन के लिए तैयार रहें

Indian News : देश के अलग-अलग राज्यों में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) ने चार जनवरी को सभी तरह के घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंटों को स्थगित करने का फैसला किया था लेकिन अब फिर से रणजी ट्राफी से घरेलू क्रिकेट शुरू हो सकता है।
BCCI बीसीसीआइ सूत्रों का कहना है कि फरवरी के दूसरे सप्ताह से रणजी ट्राफी टूर्नामेंट शुरू हो सकता है। रणजी ट्राफी, कर्नल सीके नायडू ट्राफी (अंडर-25), सीनियर महिला टी-20 लीग को देश में बढ़ते कोरोना मामलों के कारण स्थगित कर दिया था। पहले रणजी ट्राफी की शुरुआत 13 जनवरी से होनी थी और इसका फाइनल 16 मार्च को था।

इसके अलावा सीके नायडू ट्राफी का आगाज 18 जनवरी से था और फाइनल 12 फरवरी हो होना था।

कर्नल सीके नायडू ट्राफी और सीनियर महिला टी-20 टूर्नामेंट भी आयोजित करा सकता है बीसीसीआइ
इस सत्र में आयोजित हो चुके घरेलू टूर्नामेंट टूर्नामेंट विजेता विजय हजारे ट्राफी हिमाचल प्रदेश सैयद मुश्ताक अली ट्राफी तमिलनाडु वीनू मांकडू ट्राफी हरियाणा|

सीनियर महिला टी-20 लीग फरवरी में होनी थी। सूत्र से पता चला है BCCI ने कहा है की हम नहीं चाहते थे कि कोरोना के माहौल में खिलाड़ी, सहयोगी स्टाफ, मैच अधिकारियों की जिंदगी को खतरे में डाला जाए लेकिन अब रिपोर्ट आ रही हैं कि फरवरी से देश में कोरोना कम होने लगेगा और यह दूसरी लहर के जैसा खतरनाक भी नहीं है। रणजी ट्राफी, अंडर-25 खिलाड़ी और सीनियर महिला

खिलाड़ियों में से लगभग सभी को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी हैं। हम पहले रणजी ट्राफी शुरू करेंगे और उसके बाद बाकी टूर्नामेंट भी कराएंगे। इसको लेकर बीसीसीआइ के अधिकारियों को तैयार रहने को कह दिया गया है। फरवरी में दूसरे या तीसरे सप्ताह से रणजी ट्राफी शुरू की जाएगी। उससे पहले खिलाड़ियों को पांच या सात दिन के लिए क्वारंटाइन किया जाएगा। इसको लेकर बीसीसीआइ पदाधिकारियों में चर्चा भी हुई है। हालांकि आखिरी मुहर लगना बाकी है।

Cricket-bowling-machine-indian-news

मालूम हो कि जब बीसीसीआइ ने यह टूर्नामेंट रद किए थे तो सचिव जय शाह ने कहा था कि स्थितियां ठीक होने पर हम घरेलू क्रिकेट का बचा हुआ सत्र पूरा करेंगे। बीसीसीआइ इस दौरान वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन वनडे और तीन टी- 20 की सीरीज भी खेलेगा। अप्रैल में भारत में आइपीएल भी आयोजित होना है। ऐसे में सिर्फ घरेलू क्रिकेट नहीं कराकर बीसीसीआइ आलोचना का पात्र नहीं बनना चाहता। रणजी ट्राफी का पिछला सत्र भी कोरोना के कारण नहीं हो पाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page