INDIAN NEWS : प्रदेश के शासकीय कार्यालयों में कार्यरत 7 लाख से अधिक अनियमित कर्मचारी जैसे-आउटसोर्सिंग (प्लेसमेंट), सेवा प्रदाता, ठेका, जॉबदर, संविदा, दैनिक वेतनभोगी, कलेक्टर दर, श्रमायुक्त दर पर कार्यरत श्रमिक, मानदेय, अशंकालिक, पृथक अनियमित कर्मचारी 150 से अधिक संगठनों के माध्यम से अपने विभिन्न मांगो के लिए निरंतर संघर्षरत है|
उल्लेखनीय है कि ये अनियमित कर्मचारी विगत 5, 10, 15, 20, 25 वर्षों से अधिक समय से कार्यरत है तथा प्रदेश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है| सामान कार्य करने के बावजूद ये नियमित कर्मचारी से आधे से कम वेतन में कार्य करने विवश है| वर्तमान में इनकी स्थिति मध्यकालीन बन्धुआ मजदूर से बदतर है| बेरोजगारी, आर्थिक असुरक्षा, पारिवारिक जिम्मेदारी, प्रशासनिक दबाव के कारण ये अनियमित कर्मचारी अपने विरुद्ध हो रहे अन्याय का चुप-चाप सह रहे है| उपरोक्त कारणों से समाज के पढ़े-लिखे नव-युवा/युवतियां मानसिक अवसाद से ग्रसित हो रहे है|
वर्षों से संघर्षरत इन कर्मचारियों की मांगे तो पूरी नहीं उल्टा विभिन्न धाराओं में विभिन्न संगठन के कर्मचारी नेताओं पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया जिससे कोर्ट के चक्कर काटते-काटते परेशान हो गए है|
छत्तीसगढ़ प्रगतिशील अनियमित कर्मचारी फेडरेशन के पदाधिकारी गण माननीय मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री द्वय से मिलकर इन मुकदमा को वापस लेने ज्ञापन के साथ अनुरोध किया है, परन्तु अद्यतन किसी प्रकार की प्रतिउत्तर प्राप्त नहीं हुई है| अतः माननीय मुख्यमंत्री, गृहमंत्री महोदय से अपील है कि अनियमित कर्मचारी नेताओं पर दर्ज मुकदमा (ऍफ़ आई आर) वापस लें|

मांग के प्रमुख बिंदु :

  1. समस्त अनियमित, दैनिक वेतनभोगी एवं संविदा कर्मचारी/अधिकारीयों को नियमित किया जावे तथा नियमितीकरण से वंचित को स्थायीकर्मी बनाकर स्थायीकरण किया जावे|
  2. विगत वर्षों से निकाले गए/छटनी किये गए अनियमित कर्मचारियों को बहाल कर छटनी पर रोक लगाई जावे।
  3. अंशकालिक कर्मचारियों को पूर्णकालीन किया जावे|
  4. शासकीय सेवाओं में आउट सोर्सिंग, सेवा प्रदाता, समिति के माध्यम से नियोजन, ठेका को पुर्णतः समाप्त कर कर्मचारियों का समायोजन किया जावे तथा नियत अवधि में नियमित किया जावे|

FIR की सूची :

  1. दिनांक 23 जुलाई 2018 को आयोजित धरने के दरमियान अनिल देवांगन एवं अन्य 14 अनियमित कर्मचारियों पर गोल बाजार थाने में आई पी सी की धारा 147, 341, 188 (एफ आई आर संख्या-156/वर्ष 2018) एवं आजाद चौक थाना में रवि गडपाले एवं अन्य 12 अनियमित कर्मचारियों पर आई पी सी की धारा 147, 186, 294 (एफ आई आर संख्या-259/वर्ष 2018) के तहत अपराध पंजीबद्ध है जिसका मुकदमा क्रमशः अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, रायपुर एवं अतिरिक्त मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी रायपुर न्यायालय में चल रहा है|
  2. दिनांक 29.10.2021 को अतिथि व्याख्याता संघ के भानु प्रताप आहिरे एवं 150 अन्य सदस्य /पदाधिकारियों पर आईपीसी के धारा 147, 341 तहत थाना कोतवाली में एफआईआर|
  3. दिनांक 10.03.2022 को दिवंगत शिक्षाकर्मी अनुकम्पा नियुक्ति संघ के शांति बाई साहू एवं 20 सदस्य/पदाधिकारियों पर आईपीसी के धारा 186, 353 तहत थाना कोतवाली में एफआईआर|
  4. दिनांक 22.04.2022 को विद्युत् संविदा कर्मचारी संघ के विवेक भगत एवं 2 सदस्य/पदाधिकारियों पर आईपीसी के धारा 147, 341 तहत थाना कोतवाली में एफआईआर|
  5. दिनांक 23.04.2022 को विद्युत् संविदा कर्मचारी संघ के विवेक भगत एवं 16 सदस्य/ पदाधिकारियों पर आईपीसी के धारा 147, 186, 332, 353 तहत थाना कोतवाली में एफआईआर|
  6. दिनांक 06.09.2022 को दिनेश शर्मा शासकीय अनियमित संघ, नीलू ओगरे मध्यान्न भोजन रसोइया संघ, संजीव मिश्र एवं अन्य सदस्य/ पदाधिकारियों पर आईपीसी के धारा 34, 341 तहत थाना कोतवाली में एफआईआर|
  7. दिनांक 08.01.2023 को रवि गडपाले, चुम्मन साहू, सौरभ मिश्र छत्तीसगढ़ संयुक्त अनियमित महासंघ, उज्जवल दीवान, संजीव मिश्र एवं सदस्य/ पदाधिकारियों पर आईपीसी के धारा 147, 149, 186, 332, 353 तहत थाना कोतवाली में एफआईआर|
  8. दिनांक 02.03.2023 को नीलू ओगरे मध्यान्न भोजन रसोइया संघ एवं सदस्य/ पदाधिकारियों पर आईपीसी के धारा 147, 341 तहत थाना मंदिर हसौद में एफआईआर|
  9. दिनांक 21.03.2023 को संतोष खांडेकर स्कुल सफाई कर्मचारी संघ एवं 1000 अन्य सदस्य/ पदाधिकारियों पर आईपीसी के धारा 147, 341 तहत थाना राखी में एफआईआर|
  10. दिनांक 09.04.2023 को बेरोजगार संघ के पदाधिकारियों पर आईपीसी के धारा 143, 147, 186, 294, 341 तहत थाना कोतवाली में एफआईआर|
  11. दिनांक 23.09.2023 को संतोष खांडेकर स्कुल सफाई कर्मचारी संघ एवं सदस्य/ पदाधिकारियों पर आईपीसी के धारा 34, 341 तहत थाना अभनपुर में एफआईआर|

जिलावार अनुमानित अनियमित कर्मचारियों (आउटसोर्सिंग (प्लेसमेंट), सेवा प्रदाता, ठेका, जॉबदर, संविदा, दैनिक वेतनभोगी, कलेक्टर दर, श्रमायुक्त दर पर कार्यरत श्रमिक, मानदेय, अशंकालिक, पृथक अनियमित कर्मचारियों) की संख्या :
1.बालोद-24825
2.बलौदाबाजार-भाटापारा-24825
3.बलरामपुर-रामानुजगंज-29790
4.बस्तर-34755
5.बेमेतरा-19860
6.बीजापुर-19860
7.बिलासपुर-19860
8.दन्तेवाडा-19860
9.धमतरी-19860
10.दुर्ग-14895
11.गरियाबंद-24825
12.गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही-14895
13.जांजगीर-चाम्पा-29790
14.जशपुर-39720
15.कबीरधाम-19860
16.कांकेर-34755
17.खैरागढ़ छुईखदान गण्डई-14895
18.कोण्डागांव-24825
19.कोरबा-24825
20.कोरिया-14895
21.महासमुंद-24825
22.मनेन्द्रगढ़ चिरमिरी भरतपुर-9930
23.मोहला मानपुर अं.चौकी-14895
24.मुंगेली-14895
25.नारायणपुर-9930
26.रायगढ़-34755
27.रायपुर-19860
28.राजनांदगांव-14895
29.सक्ती-14895
30.सारंगढ़ बिलाईगढ़-14895
31.सुकमा-14895
32.सूरजपुर-29790
33.सरगुजा-34755
34.नया रायपुर -1917
योग-726807

@indiannewsmpcg

Indian News

7415984153

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page